Vastu Tips

यदि आपके घर का मुख्य द्वार आपके घर के दक्षिण-पश्चिम कोने में है तो आपके लड़की के शादी में अड़चन आती रहेंगी इसलिए इस वास्तु दोष को खत्म करने के खत्म करने के लिए आप अपने घर के मुख्य द्वार पर तांबे की पट्टी लगाएं

नए साल के दिन आप सर्वप्रथम सुबह उठकर अपनी हथेलियों को देखें तथा अपने इष्ट देव को याद कर अपनी हथेलियों को चुम  लें इसके उपरांत आप स्नान ध्यान कर के गणेश मंदिर अवश्य जाएं ऐसा करने से नए साल में  आपकी सारी परेशानियां दूर

भगवान गणेश को तुलसी के पत्ते या तुलसी के दल नहीं चढ़ाने चाहिए क्योंकि तुलसी मां ने  गणेश जी को श्राप दिया है। भगवान गणेश के पीठ के पीछे पूजा नहीं करनी चाहिए क्योंकि ऐसा माना जाता है कि भगवान गणेश जी के पीठ के

घर से निकलते समय यदि कपड़ा उलझ जाए या दाएं पैर से कुछ टकरा जाए तो थोड़ी देर घर में रुक जाना चाहिए और इलायची मिश्री खाकर घर से निकलना चाहिए। यदि घर में अचानक से एक एक ढेर सारी मकड़ियां आ जाए तो ऐसा

यदि आपके घर में पानी का फौवारा हैं और वह बिजली से चलते हैं तो उसे अपने घर के उत्तर-पूर्व की दीवार या कोने में लगाएं TV को अपने घर के लिविंग रूम में लगाएं उत्तर की दीवार पर लगाएं म्यूजिक सिस्टम को अपने घर के उत्तर

यदि घर के उत्तर दिशा में किचन है तो इससे घर की महिलाओं की तबीयत हमेशा खराब रहती है इसलिए किचन में  एक शीशे की कटोरी में फिटकरी भरकर रखें। घर में हमेशा किचन अग्नि कोण में ही बनवाने चाहिए और वह कोना घर के

हरसिंगार के पौधे उन पौधों में से हैं जो बड़ी आसानी से कहीं पर भी मिल जाते हैं और उग भी जाते हैं।  हरसिंगार के पौधे को पराजित का पौधा भी कहते हैं ।इस पौधे के एक नहीं बहुत सारे गुण होते हैं इस पौधे

धतूरे का पौधा उन पौधों में से है जिसे  उगाने में ज्यादा जल की आवश्यकता नहीं पड़ती है ।धतूरे का फूल, फल, और पत्तियां , यह तीनों बहुत से आयुर्वेदिक काम में आते हैं। वैसे तो हम सभी जानते हैं कि धतूरे के फूल और

यदि आपके ऑफिस के कार्य में बार- बार किसी कारणवश बाधा आ जा रही हो या कोई व्यक्ति आपसे पैसे लेकर आपको आपके ही पैसे लौटा नहीं रहा हो तो आप अपने ऑफिस के उत्तर दिशा में एक शीशे की कटोरी में फिटकरी रखें इससे

एक लौंग ले उसे लाल कपड़े में बांधकर अपनी तिजोरी में रख दें फिर उस लाल कपड़े में बंधी लवंग की आरती उतारे तथा एक दीपक तिजोरी के नीचे रख दें ,ऐसा करने से आपकी तिजोरी कभी भी खाली नहीं होगी तथा लक्ष्मी जी का