जानिए कैसे करें शनि दोष का निवारण

जानिए कैसे करें शनि दोष का निवारण

Spread the love

जिस राशि में सूर्य के साथ शनि बैठा हो उसे जीवनभर कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है  इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि आप इस शनि दोष का निवारण करें और इसके निवारण युक्त आप हर शनिवार को शनि मंदिर में तेल और तिल का दान करें ।

ऐसा माना जाता है कि जिस व्यक्ति की शनि की साढ़ेसाती चल रही हो उसे हनुमान जी के मंदिर में जाकर हनुमान जी को चमेली का तेल तथा सिंदूर अर्पित करना चाहिए , साथ में लाल फूलों की माला या तुलसी माला भी चढ़ानी चाहिए । हर शनिवार और मंगलवार को सुंदरकांड का पाठ करें,  हनुमान जी लड्डू का भोग लगाएं अगर लड्डू मिलने की संभावना ना हो तो चना और गुड़ का भी भोग लगा सकते हैं ।

शनि दोष से बचने के लिए आप हर शनिवार को पीपल के पेड़ में जल के साथ गुड़ और तेल मिलाकर चढ़ाएं और फिर पीपल के पेड़ की सात बार परिक्रमा करें और संध्या काल में पीपल के पेड़ के नीचे जाकर दीपक जलाएं ।

अगर संभव हो सकता है तो आप प्रतिदिन हनुमान चालीसा पढ़े ऐसा माना जाता है कि यदि आप  प्रतिदिन हनुमानजी की पूजन करते हैं तो इससे आपके शनि दोष का भी निवारण होता है ।

ऐसा देखा गया है कि जिस व्यक्ति की शनि की साढ़ेसाती चल रही होती है वह व्यक्ति आमतौर पर काफी गुस्से में रहता और इस प्रकार के दोष से बचने के लिए आपको जब भी  गुस्सा आए आप मिश्री की एक डाली मुंह में ले इसे आपका गुस्सा कम हो जाएगा । यदि आपको अत्यधिक गुस्सा आता हो तो आप अपने मन में ही इस मंत्र का जाप किया करें  “शांतम पापम् शांतम पापम्” ।

आप प्रत्येक शनिवार को पीपल के पेड़ में जल के साथ कच्चे दूध और गुड़ को मिलाकर चढ़ाएं और चार मुखी आटे का दीपक जलाएं , इससे भी आपके सनी दोष का निवारण होता है ।

यदि संभव है तो आप प्रतेक शनिवार के दिन काली गाय, काले कुत्ते तथा काले कौवे को रोटी खिलाएं से शनि भगवान प्रसन्न होते हैं तथा आपके शनि दोष भी निवारण हो जाता है ।

हफ्ते में एक दिन आप अपने किसी कर्मचारी को या किसी भूखे मनुष्य को भरपेट भोजन करवाएं ऐसा करने से भी  शनि दोष का कम हो जाता है ।

शनिवार के दिन काली रेशमी कपड़े में एक मुट्ठी काली तिल को बांधकर पानी में रख कर एक घंटा छोड़ दें फिर उसी पानी से शनिवार के दिन पूरे परिवार अपना मुंह धो ले इससे शनि की साढ़ेसाती का असर तो कम होता ही है साथ ही साथ घर में हो रहे क्लेश भी कम हो जाते हैं ।

यदि ना चाहते हुए भी आप फटे जूते पहन रहे हैं तो इसका मतलब यह है कि आप पर शनि की साढ़ेसाती चल रही है और कोर्ट कचहरी के भी चक्कर लग सकते हैं इस शनि दोष से बचने के लिए आप काली गाय को उड़द की कचौड़ी बना कर शनिवार के शाम को खिलाएं।

Leave a Reply