You are currently viewing जानिए हरसिंगार के पौधे के चमत्कारी उपयोग

जानिए हरसिंगार के पौधे के चमत्कारी उपयोग

Spread the love

हरसिंगार के पौधे उन पौधों में से हैं जो बड़ी आसानी से कहीं पर भी मिल जाते हैं और उग भी जाते हैं।  हरसिंगार के पौधे को पराजित का पौधा भी कहते हैं ।इस पौधे के एक नहीं बहुत सारे गुण होते हैं इस पौधे के पत्ते, छाल, फल ,फूल सभी काम में आते हैं ।

ऐसा माना जाता है कि जिस घर में हरसिंगार के पौधा होता है उस घर में लक्ष्मी का साक्षात वास  होता है। सबसे महत्वपूर्ण यह बात है कि  यदि इसे आप अपने घर में लगाते हैं तो इसे सही दिशा में ही लगाए , यदि आप इसे सही दिशा में नहीं लगाते हैं तो इसका कोई फायदा नहीं होगा, इसीलिए हरसिंगार के पौधे को अपने घर के ईशान कोण यानी उत्तर पूर्व कोने में ही लगाएं ।

हरसिंगार के पौधे को औषधि के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है यदि किसी  व्यक्ति को गठिया की बीमारी है तो वह हरसिंगार के पौधे के ३- ४ पत्ते लें उसे चटनी की तरफ पीस लें फिर उसे एक गिलास पानी में मिलाकर उबाल कर , उसे आधा कर दे फिर उसे सुबह खाली पेट पिए जिससे गठिया का दर्द तो ठीक हो ही जाता है साथ ही साथ शरीर का फूलना भी कम हो जाता है ।

हरसिंगार के फूलो को काफी सुगंधित फूल माने जाते  हैं, इसे घर में रखने से घर की सारी नकारात्मक उर्जा मिट जाती है और घर में सकारात्मक ऊर्जा  फैलती है । हरसिंगार के पौधे को वास्तु दोष के निवारण के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है ।

हरसिंगार के पौधे ठंडी में उगते हैं ,तथा इनके फूल रात में खिलते हैं और सुबह धरती पर अपने आप ही गिर जाते हैं । इसके फूल को छांव में सुखाकर पाउडर बनाकर रख लें , फिर उसे मिश्री के साथ खाने से कमजोरी दूर हो जाती है ।

हरसिंगार के 2 पत्ते, एक फूल तथा तुलसी के २ पत्ते को साथ में मिलाकर चाय की तरह उबालकर पीने से शक्ति आती है,  तथा छोटे बच्चों के पेट के कीड़े भी समाप्त हो जाते हैं । इससे किसी भी तरह के बुखार जैसे डेंगू चिकनगुनिया इत्यादि में हरसिंगार के पत्ते को उबालकर पीने से बुखार ठीक हो जाता है । इसका पत्ता  बहुत ही कड़वा होता है इसीलिए यदि किसी व्यक्ति को शुगर की बीमारी है और वह इसके पत्ते को उबालकर नियमित रूप से सेवन करें तो, उससे शुगर की बीमारी से राहत मिल जाएगी ।

Leave a Reply