धनतेरस के दिन क्या करें और क्या ना करें

धनतेरस के दिन क्या करें और क्या ना करें

Spread the love

ऐसा माना जाता है कि धनतेरस के दिन समुद्र मंथन के दौरान धनतेरी जी अमृत का कलश लेकर आए थे, इसीलिए उस दिन बड़े-बड़े बर्तन खरीदने चाहिए क्योंकि जितने बड़े बर्तन आप उस दिन खरीदेंगे उसका 13 गुना ज्यादा आपको धन की प्राप्ति होगी ।

धनतेरस के दिन इस बात का अत्यधिक ध्यान  रखें कि आपके घर में कहीं पर भी कोई भी मकड़ी का जाला ना लगाओ और अगर मकड़ी के जाले है तो उसे साफ करवाए ।

धनतेरस के दिन बाथरूम का दरवाजा बंद करके रखे। यूं तो आपको हर रोज ही अपने बाथरूम का दरवाजा बंद रखना चाहिए क्योंकि बाथरूम का दरवाजा खुला रखने से घर में  नकारात्मक उर्जा फैलती है और धन की भी हानि होती है ।

धनतेरस के दिन आपके घर के उत्तर दिशा का महत्व बढ़ जाता है क्योंकि यह दिशा धन के स्वामी कुबेर जी का माना जाता है । इस बात का आत्याधिक ध्यान रखे की उत्तर की दिशा में किसी प्रकार की कोई भी भरी वस्तु न रखे या और ना ही उस दिशा में मोटे कपड़े का पर्दा लगाएं और हो सके तो उस दिशा के खिड़की और दरवाजे को खुला रखें और हल्के रंग का पर्दा लगाएं ।

अगर आपके घर के नल से हमेशा पानी टपकता ही रहता है तो उसे दीपावली के पहले बनवा लें क्योंकि नल से पानी का हमेशा टपकना शुभ नहीं माना जाता है । ऐसा करने से घर में धन तो जरूर आएगा पर वह बेफिजूल खर्च हो जायेंगे ।

जैसा की हम सभी जानते हैं धनतेरस के दिन सोना चांदी बर्तन या आभूषण खरीदने चाहिए और साथ ही साथ झाड़ू या साफ करने वाली कोई चीज खरीदनी चाहिए । कुछ नहीं खरीदना चाहिए तो वह है धार वाली वस्तु,  किसी प्रकार की कोई भी धार वाली वस्तु जैसे की चाकू कैंची इत्यादि ना खरीदें  क्योंकि धनतेरस के दिन किसी प्रकार की भी कोई धार वाली वस्तु को खरीदना शुभ नहीं माना जाता है ।

वैसे तो हम सभी को पता है की  गाय को भोजन कराना एक शुभ कार्य माना जाता है क्योंकि गाय में 84000 देवी देवता वास करते हैं । इसलिए यदि आप धनतेरस के दिन से लेकर भाईदूज के दिन तक लगातार गाय को भोजन करवाते हैं तो यह काफी शुभ माना जाता है तथा यह भी माना जाता है कि ऐसा करने से लक्ष्मी आपके घर में स्थाई रूप से वास करेगी ।

यदि संभव हो सके तो आप ऐसी पेड़ की टहनी तोड़कर घर पर लाएं और उसे तिजोरी में रखे जिस पेड़ पर चमगादड़ या उल्लू बैठते हो क्योंकि चमगादड़ और उल्लू को लक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है ।

धनतेरस के दिन घर में दक्षिणावर्ती शंख लेकर आए और उसे लाल कपड़े में लपेटकर उसकी पूजा करें तथा इसके उपरांत उसे तिजोरी में रख दें ऐसा करने से लक्ष्मी जी प्रसन्न होती है तथा घर में सुख और शांति आती है ।

धनतेरस के दिन सफेद चीजों को दान में देना चाहिए जैसे कि आटा, चावल, सफेद कपड़ा इत्यादि क्योंकि सफेद रंग शांति का प्रतीक माना जाता है साथ ही साथ सफेद एक ऐसा रंग है जिसमें सातों रंग मिले होते हैं इसीलिए इसे काफी महत्व दिया जाता है ।

Leave a Reply