मनी प्लांट लगाते समय रखें कुछ बातों का ध्यान जिससे होगी धन लक्ष्मी की बरसात

मनी प्लांट लगाते समय आपको सही दिशा और सही जगह का ज्ञान होना आवश्यक है मनी प्लांट लगाने से पूर्व उस में गंगाजल का छिड़काव करें  फिर उस मनी प्लांट में रक्षा धागा बांध दे और फिर जिस गमले में आप मनी प्लांट को लगाने वाले हैं उस गमले में एक-एक के 5 सिक्के डाल दें ऐसा करने से लक्ष्मी आपके घर में स्थाई रूप से वास करेंगी

मनी प्लांट लगाते समय एक बहुत ही महत्वपूर्ण बात का आप ध्यान रखें कि गलती से भी मनी प्लांट को घर के ईशान कोण में ना लगाएं इससे पति पत्नी के संबंध में हमेशा कड़वाहट बनी रहती है और घर के किसी ना किसी एक सदस्य की तबीयत हमेशा खराब रहेगी

मनी प्लांट के पत्तों को कभी भी दीवार पर या जमीन पर फैलने नहीं देना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से घर में कई प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा फैलती है इसीलिए मनी प्लांट के पत्तों  को लकड़ी के सहारे ही पहले देना चाहिए

मनी प्लांट यानी पैसों का पौधा इसीलिए मनी प्लांट के पौधे लगाते समय आप इस बात का अत्याधिक ध्यान रखें कि मनी प्लांट को घर के अंदर ही लगाएं  बाहर नहीं

मनी प्लांट के पौधों में मुरझाए पत्ते तथा पीले पत्ते नहीं होने चाहिए क्योंकि इसे शुभ नहीं माना जाता है इसीलिए समय समय पर मनी प्लांट के पत्तों की चटाई किया करें और पानी डालें

घर में मनी प्लांट के हरे भरे पौधे लगाने से नहीं सिर्फ लक्ष्मी का आगमन होता है बल्कि  रिश्ते भी मजबूत होते हैं

मनी प्लांट को घर के दक्षिण पूर्व यानी अग्नि कोण में ही लगाना चाहिए क्योंकि यह कोना गणेश जी का कोना माना जाता है ऐसा माना जाता है कि अगर आप मनी प्लांट को दक्षिण पूर्व की दिशा में लगाएंगे तो घर में लक्ष्मी की बढ़ोतरी होगी तथा घर में हमेशा सुख शांति बनी रहेगी

जानिए कार्तिक पूर्णिमा का महत्व और स्नानदान

कार्तिक पूर्णिमा को काफी महत्व दिया जाता है  क्योंकि ऐसा माना जाता है  कि भगवान विष्णु के पहले अवतार का जन्म कार्तिक पूर्णिमा के दिन ही हुआ था।

कार्तिक पूर्णिमा के दिन गंगा स्नान को भी काफी महत्व दिया गया है ऐसा माना जाता है कि कार्तिक पूर्णिमा के दिन गंगा स्नान करने से आपके किए गए सारे पाप धुल जाएंगे। यदि आपके घर के आसपास कहीं पर गंगा नदी ना हो तो आप अपने घर में ही थोड़ा सा गंगाजल डालकर स्नान करें क्योंकि ऐसा करने से आपको गंगास्नान जितना ही पुण्य मिलेगा।

 

इस बार कार्तिक पूर्णिमा शनिवार के दिन है इसलिए शनिवार के दिन थोड़ा सा आमला चूर्ण या तिल शरीर में मल कर नहाने से कालसर्प दोष, शनि दोष, और पित्र दोष समाप्त हो जाएगा।

Read More

दीपावली की रात करें कुछ खास उपाय जिससे होगी आप धन की बरसात

 

 

जैसा की हम सभी जानते हैं दीपावली की रात काफी शुभ रात मानी जाती हैं , या इसे दूसरे शब्दों में कहें तो इसे लक्ष्मी प्राप्ति की रात भी कही जा सकती है ।-दीपावली की रात को लक्ष्मी पूजन समाप्त होने के बाद घर के सभी कमरों में शंख बजाएं और अगर आपके घर में शंख नहीं है तो घंटी ही बजाए और इस बात का ध्यान रखें कि घंटी हमेशा बाएं हाथ से बजाएं,  इससे आपके घर की सारी नकारात्मक ऊर्जा मिट जाती है और ऐसा करने से लक्ष्मी मां प्रसन्न होती है और घर में सुख और समृद्धि आती है ।

-वैसे तो दीपावली दीपों का त्यौहार है इसीलिए हम सभी अपने घर को दीपों से सजाते हैं पर यदि आप एक तिल     के तेल का दीपक एक लवंग डालकर हनुमान मंदिर में जलाते हैं तो इससे आपके सारे संकट कट जाते हैं।

Read More

कुछ खास उपहार जो दीपावली के दिन किसी को भी ना दे

जैसा की हम सभी जानते दीपावली की रात काफी महत्वपूर्ण मानी जाती है । दीपावली खुशियों का त्योहार माना जाता है । दीपावली के दिन हम अपने परिवार के सदस्य और दोस्तों के साथ उपहारों  का कभी आदान प्रदान करते हैं क्योंकि उपहार अपनों की खुशी के लिए आप अपनों को भेंट के तौर पर देते हैं और इससे घर में खुशी का माहौल बनता है और जहां खुशियां होती है वही सुख और शांति भी होती है जिससे मां लक्ष्मी प्रसन्न होकर घर में स्थाई रुप से वास करती हैं ।

Read More

जानिए कुछ ऐसे संकेतो के बारे में जिनसे दीपावली की रात को घर में लक्ष्मी का आगमन होता है

जैसा की हम सभी जानते हैं दीपावली की रात को मां लक्ष्मी के आगमन की रात मानी जाती है इसीलिए दीपावली की रात को कुछ ऐसे संकेतो का मिलना जिन से आपको पता चलेगा  की आने वाले नए साल में मां लक्ष्मी की आपके ऊपर अस्थाई रूप से कितनी कृपा बनी रहेगी ।

Read More

ऐसे करें दीवाली पर लक्ष्मी-गणेश पूजन, घर आएंगी सुख-समृद्धि

वैसे तो मां लक्ष्मी के बहुत सारे स्वरूप है परंतु मां लक्ष्मी को सबसे प्रिय है श्रीयंत्र तथा लक्ष्मीयंत्र । दीपावली के दिन लक्ष्मी पूजन के समय कलश स्थापना  को बहुत महत्व दिया गया है और इस कलश स्थापना के लिए आप एक तांबे का कलश ले यदि तांबे का कलश उपलब्ध नहीं है तो आप मिट्टी का भी कलश ले सकते है,  इसके उपरांत कलश में एक रक्षा धागा बांध लें और फिर उस कलश को गंगाजल से भर दे,  इसके बाद उसी कलश में एक सुपारी, एक लवंग, एक सिक्का और एक हल्दी का गांठ डाल दें,  अंत में एक कटोरी से भरे हुए चावल को उस कलश के ऊपर रख दें और कटोरी के ऊपर एक नारियल रख दे और इस बात का अत्यधिक ध्यान रखें कि नारियल में रक्षा धागा बांधा हो ।

Read More

धनतेरस के दिन क्या करें और क्या ना करें

ऐसा माना जाता है कि धनतेरस के दिन समुद्र मंथन के दौरान धनतेरी जी अमृत का कलश लेकर आए थे, इसीलिए उस दिन बड़े-बड़े बर्तन खरीदने चाहिए क्योंकि जितने बड़े बर्तन आप उस दिन खरीदेंगे उसका 13 गुना ज्यादा आपको धन की प्राप्ति होगी ।

धनतेरस के दिन इस बात का अत्यधिक ध्यान  रखें कि आपके घर में कहीं पर भी कोई भी मकड़ी का जाला ना लगाओ और अगर मकड़ी के जाले है तो उसे साफ करवाए ।

Read More

जानिए कैसे करें शनि दोष का निवारण

जिस राशि में सूर्य के साथ शनि बैठा हो उसे जीवनभर कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है  इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि आप इस शनि दोष का निवारण करें और इसके निवारण युक्त आप हर शनिवार को शनि मंदिर में तेल और तिल का दान करें ।

Read More

नजर दोष से बचने के कुछ खास उपाय

भारत में ऐसी अनेक बातें प्रचलित हैं, जिन्हें कई बार समझना और उन पर यकीन तक कर पाना मुश्किल हो जाता है, लेकिन फिर भी लोग इन्हें मानते हैं। कुछ लोग इसे अंधविश्वास ही सही यदि बुरी नजर जैसा कुछ होता भी है तो उससे भी बचने का उपाय तांत्रिक सुझाते हैं। और मानें भी क्यों ना, क्योंकि लोगों को इसका असर साफ-साफ दिखाई पड़ता है। नजर दोष से बचने के कुछ खास उपाय

Read More

जानिए कौन से भगवान को कौन सा फूल पसंद है

वैसे तो भगवान अपने भक्तों की सच्चे भक्ति-भाव से ही प्रसन्न हो जाते हैं। यदि भगवान को प्रसन्न करना है तो यह जानना जरूरी है कि किस भगवान को कौन सा पुष्प प्रिय है तभी पूजा का पूरा फल प्राप्त होता है। जैसे कि भगवान गणेश को तुलसी नहीं चढ़ाई जाती पर भगवान विष्णु को तुलसी अत्यधिक प्रिय है।

स्वरप्रथम हम जानेंगे भगवान श्रीगणेश के बारे में। भगवान श्री गणेश को कभी भी तुलसी का पत्ता या तुलसी को दल नहीं चढ़ाना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से भगवान श्रीगणेश नाराज हो जाते हैं। गणेश जी दुर्भा से बहुत जल्द प्रसन्न हो जाते हैं खासतौर पर 3 या 5 पत्तों वाला दुर्भा । फूलों में सभी प्रकार के फूल गणेश जी पर चढ़ाए जा सकते हैं।

जैसा कि हम सभी लोग जानते हैं की भगवान विष्णु काफी शांत स्वभाव के भगवान है और बहुत जल्द ही प्रसन्न भी हो जाते हैं । भगवान विष्णु पर आप कमल, जूही, कोसी, केवड़ा, मालती, चमेली, वैजयंती, चंपा, तुलसी  चढ़ाकर पूजा करें ।

Read More